ब्लैकहोल क्या है? ( what is blackhole and supernova)

नमस्कार दोस्तों! हिंदी रूम की वेबसाइट पर आपका स्वागत है, आज हम जानेंगे "ब्लैकहोल क्या है?, सुपरनोवा  क्या है?, न्युट्रान तारा कैसे बनता है?, what is blackhole, what is supernova"

दोस्तों चलिए जानते है की आखिर ब्लैक होल, सुपरनोवा और न्युट्रान तारे क्या है?

ब्लैकहोल क्या है? ( what is blackhole and supernova)

ब्लैक होल, सुपरनोवा और न्युट्रान तारे


हम सभी जानते है कि तारों पर नाभिकीय संलयन की क्रियाएं रही होती है, इससे निकालनी वाली अत्यधिक भारी मात्रा में निकलने वाली ऊष्मा के कारन तारों का गुरुत्वाकर्षण संतुलन बना रहता है संलयन क्रियाओं में मुख्य योगदान हाइड्रोजन का होता है, जब तारे में हाईड्रोजन की उपस्थिति ख़त्म हो जाती है, तो संलयन क्रिया बंद  है और तारे  धीरे धीरे होने लगता है| इसके कारण इनका गुरुत्वाकर्षण संतुलित नहीं रह पता और ये बहुत अधिक द्रव्यमान वाले तारे के अंदर विस्फोट होता है जिसे हम सुपरनोवा कहते है| इस विस्फोट के बाद तारे का बहुत अधिक घनत्व वाला बचा अवशेष अत्यधिक घनत्व वाला न्युट्रान तारा बन जाता है |  यह तारा बहुत ज्यादा गुरुत्वी खिचाव के कारन संकुचित होने लगता है इस असाधारण संकुचन के कारण तारा अदृश्य हो जाता है| इन्ही अदृश्य पिंडो को ब्लैकहोल कहते है| ब्लैकहोल एक ऐसा पिंड है जिसका गुरुत्वाकर्षण इतना तेज़ होता है कि इसके आर पार प्रकाश की किरण भी नहीं जा पाती और इस पिंड के अंदर समय का कोई अश्तित्व नहीं है|




उम्मीद है दोस्तों आपको " ब्लैकहोल क्या है?, सुपरनोवा  क्या है?, न्युट्रान तारा कैसे बनता है?, what is blackhole, what is supernova"" समझ में आ गयी होगी और अगर आपका कोई और प्रश्न है तो निचे कमेंट करके जरूर पूछे :)

No comments:

Post a Comment