Home Top Ad

A True Love Story of Akshy and Tanya(Teenage Love)

Share:
हेल्लो दोस्तों! जैसा की हम जानते जादातर लोगो को उनका पहला प्यार Teenage में ही हो जाता है, इसे ही एक प्यार की दास्तान आज हम जानेंगे "A True Love Story of Akshy and Tanya(Teenage Love,Love Story in Hindi)"


A True Love Story of Akshy and Tanya,love story in hindi,teenage love,

बचपन का वो समय होता ही इतना खाश है की उस  सब  कुछ प्यारा लगता है और  उस वक्त  का प्यार तो सब से हट के होता है जिसमे कोई स्वार्थ नहीं होता है बस प्यार  होता है जो की बहुत प्यारा होता है..

अब आप लोगो का समय बर्बाद न करते हुए सीधा आज   की हमारी पायरी सी कहानी पर चलते है 

आज की हमारी ये कहानी दिल की नगरी दिल्ली के Akshy और Tanya  की है 
अक्षय जो की 17 साल का है  तान्या 16 साल की है अब आप सोचेंगे की इतनी छोटी उम्र में प्यार कैसे हो सकता है तो आगे पढ़िए।




अक्षय एक छोटे परिवार से था और तान्या एक अच्छी अमीर परिवार से थी दोनों एक दूसरे के पडोसी थे..
एक दिन अक्षय की नज़र तान्या पर पहली बार तब पड़ी जब वो वहा पर अपना घर शिफ्ट कर रहे थे 
अक्षय ने  उस वक्त तान्या को पहली बार देखा था अक्षय बस तान्या को देखता रह गया वो थी  इतनी खूबसूरत।

अब उसके सामने बस तान्या  का ही चेहरा होता था वो समझ नहीं पा रहा था की ये उसके साथ हो क्या रहा है 
अब तो बस वो तान्या को देखने के बहाने ढूंढ़ने लगा अक्षय हमेशा तान्या के स्कूल के राश्ते पर खड़ा होक उसका इंतज़ार करता था की उसकी एक झलक देखने को मिल जाये पर तान्या कभी उससे नोटिस ही नहीं किया करती थी अक्षय बहुत उदाश होता जब तान्या उसके तरफ देखती भी नहीं थी और वो उदाश होता भी क्यों नहीं वो जिस लड़की की एक झलक देखने को तराशता था वो लड़की उसे एक नज़र उठा कर देखती भी नहीं थी 



धीरे धीरे ऐसे ही समय बीतने लगा तान्या के लिए अक्षय की चाहत और बढ़ने लगी पर आज भी तान्या उसे देख कर भी अनदेखा कर देती थी पर वो कहते है न एक तरफ़ा प्यार में बहुत तागत होती है ऐसे  अक्षय के प्यार में सिर्फ उसका हक़ था उसने हार नहीं मानी अक्षय ने तान्या से बात करने की बहुत कोशिश की पर वो कामयाब नहीं हो पाया वो बस एक मोके के तलाश  में था। 



और सायद इतने महीनो बाद भगवान ने अक्षय की सुन ली अक्षय जहा पर अपनी टूशन क्लास करने जाता था तान्या ने भी वही अपना एडमिशन ले लिया अक्षय तान्या को अपने टूशन क्लास में  देख कर बहुत खुश हुआ वो मन ही मन सोच रहा था  की अब रोज उसके साथ थोड़ा टाइम स्पेंड कर पायेगा पूरा समय  क्लास में बैठा सिर्फ तान्या की आँखों में देखता रहा और ये पहली बार था जब तान्या ने भी उसे नोटिस किया था और अक्षय की तरफ देखा पर अक्षय ने तुरंत अपनी नज़रे तान्या से हटा ली अक्षय की तो ख़ुशी का आज कोई ठिकाना नहीं था

उसके दिमाग में एक बात सूझी सब के क्लास से जाने के बाद अक्षय ने टूशन के रजिस्टर से तान्या का नंबर निकाल लिया और वो गुनगुनाता झूमता हुआ घर पंहुचा उसकी ख़ुशी देख कर अक्षय की  मम्मी ने पूछा 

क्या हुआ अक्षय बहुत खुश दिख रहे हो क्या बात है ?


अक्षय = कुछ नहीं मम्मी बस उहि। 


इतना बोल के वो छत पर चला जाता है अब उसके पास तान्या का नंबर भी था उसने तुरत तान्या का नंबर  मिला दिया। 
तान्या ने फ़ोन उठाया 


तान्या= हेलो कोन 

अक्षय ने तुरंत फ़ोन कट कर दिया और उसकी आवाज़ सुन के कुछ बोल ही नहीं पाया और बस उसके खयालो में खो गया। 


पर अब अक्षय ने सोच लिया था की उसे अपने प्यार का इज़हार करना है और वो सही मौके की तलाश में लग गया अगले दिन जब अक्षय अपने ट्यूशन जा कर बेठ गया और तान्या का इंतज़ार करने लगा 


तान्या भी आ कर अक्षय के साइड में बैठ गयी आज तो मानो जैसे भगवान भी उसके साथ थे अब तो  बस अक्षय एक मौका ढूंढ रहा था तान्या से बात करने के लिए। 


उसने थोड़ी हिम्मत जुताई और तान्या को बोला। 


अक्षय= हाय तान्य  (प्यारी सी  स्माइल देते हुए ) 

तान्या= हेलो 

अक्षय= कैसी हो तुम। .

तान्या= मैं ठीक हु तुम  बताओ। 

अक्षय= मैं भी ठीक  अब। 

तान्या= क्या मतलब पहले ठीक नहीं थे  (हस्ते हुए )

अक्षय= नहीं कुछ नहीं। 

इतनी बात करने के बात उनका क्लास ख़तम हो गया और तान्या घर चली गयी और अक्षय तो बस अभी भी उसके खयालो में खोया हुआ था। 



उसको यकीन नहीं हो रहा था की उसने आज तान्या से सच में बात की है। 


वो घर गया और उसने फिर  से तान्या को फ़ोन लगाया। 


तान्या= हेलो कौन 

अक्षय= मैं अक्षय 

तान्या= अरे अक्षय तुम हो तुम्हे मेरा नंबर  कहा से  मिल गया हम्म्म  मेने तो नहीं दिया। 

अक्षय= (घबराता हुआ ) वो मैं बस गलती से लग गया। 


तान्या = (हस्ते हुए बोली) हाँ अच्छा गलती से मेरा नंबर ही लगता है बताओ तो कहा से मिला नंबर। 


अक्षय= वो मेने ट्यूशन रजिस्टर से निकाला था प्लीज गुस्सा मत करना और किसी को बताना मत। 

तान्या= ावववहहह मैं  तो बताऊगी अब। 


अक्षय= प्लीज नहीं मैं नंबर डिलीट कर दूंगा। 


तान्या= अरे पागल मज़ाक कर रही हु मुझसे मांग लिया होता मै दे देती नंबर खुद अच्छा कल मिलती हु बाई। 


अक्षय= ओके थैंक्स बाई। 


फ़ोन कट करने के बाद तो अक्षय जैसे ख़ुशी से नाच रहा था ऐसे ही समय निकलता रहा अब दोनों के बिच गहरी दोस्ती हो गयी दोनों अपना ज्यादा तर समय एक दुषरे के साथ बिताने लगे अब तान्या के दिल में भी अक्षय के लिए एक काश जगह बन चुकी थी 






अक्षय ने सोचा अब उसे अपने प्यार का इज़हार कर देना चाहिए पर उसके मन में एक दर था
इस प्यार  वजह से वो अपनी दोस्ती को न तोड़ दे। 


पर अक्षय ने हिम्मत जुताई और एक दिन। 


अक्षय= तान्या। 
 तान्या= हाँ बोलो 


अक्षय= I Love You...


तान्या= अच्छा तो मैं क्या करू 

अक्षय उदाश हो गया फिर तान्या ने हस्ते हुए बोला। 

तान्या= पागल इतनी सी बात बोलने में इतने साल लगा दिए  I LOve You too....

और इस तरह आखिर अक्षय को उसका प्यार मिल गया उसने हार नहीं मानी और अपने प्यार को हाशिल कर लिया। 

उम्मीद करता हु आपको ये कहानी "A True Love Story of Akshy and Tanya(Teenage Love, Love Story in Hindi)" 
पसंद आई होगी। ...

No comments