Hindi Room

इस वेबसाइट पर आपको हर प्रकार की जानकारी मिलगी जैसे अमेजिंग फैक्ट्स टिप्स & ट्रिक्स लाइफ स्टोरी और भी बहुत कुछ

Nick Vujicic की लाइफ स्टोरी

एक बार जरा सोचो कि अगर आपके दो हाथ नही होते तो आप कैसे जीते या फिर अगर आपके पैर ना होते तो कैसे जीते पर अगर आपके ना ही पैर होते और ना ही हाथ तो क्या आप जिन्दा रह लेते और कैसे अपना जीवन जीते ये सोचकर हमारी रूह काप जाती है पर अगर मैं ये कहू की एक इन्सान है जिसके ना ही हाथ है और ना ही पैर ओअर फिर भी वो बहुत अच्छा जीवन जी रहा है बल्कि दुसरो को भी जीना सिखा रहा है

हैलो दोस्तों
कैसे हो आप सब लोग 

मेरे ब्लॉग "Hindi Room" पर आपका स्वागत है 




एक बार जरा सोचो कि अगर आपके दो हाथ नही होते तो आप कैसे जीते
या फिर अगर आपके पैर ना होते तो कैसे जीते

पर अगर आपके ना ही पैर होते और ना ही हाथ तो क्या आप जिन्दा रह लेते और कैसे अपना जीवन जीते
ये सोचकर हमारी रूह कांप जाती है

पर अगर मैं ये कहू की एक इन्सान है जिसके ना ही हाथ है और ना ही पैर पर फिर भी वो बहुत अच्छा जीवन जी रहा है
बल्कि दुसरो को भी जीना सिखा रहा है

मैं बात कर रहा हु Nick Vujicic की जो एक बहुत अच्छे मोटिवेशनल है

इनका जन्म  4दिसम्बर 1982 में मेलबर्न ऑस्ट्रेलिया में हुआ था

Nick Vujicic की लाइफ स्टोरी...



Nick Vujicic One Hindi Blog


आप जनका हैरान हो जाओगे कि इनके जन्म से ही हाथ पैर नही थे
डॉक्टरों ने इनकी माँ को इसको मारने की सलहा दी पर इनकी माँ ने ना कह दी

पर बिना हाथ पैर के जीना कोई आसान बात नही है
Nick Vujicic को बहुत मुश्किलो का सामना करना पड़ा पर इन्होने कभी हार नही मानी वो हमेशां ही और लोगो कि तरह जीना सिखा

इन्होने कभी अपने आप को अहसास ही नही होने दिया कि और लोगो की तरह इनके पास हाथ पैर नही है

ये हमेशां वही कार्य करना पसंद करते थे वो आम लोग करके थे
19 साल की उम्र में Nick Vujicic ने अपना पहला मोटिवेशनल भाषण दिया था

तब से लेकर वो पुरे विश्व की सैर कर रहे है और लोगो को अपनी लाइफ स्टोरी बता कर जीने की प्रेणना दे रहे है

आज वो एक लेखक , संगीतकार और कलाकार है साथ ही इनको फिशिंग , पेंटिंग और स्विमिंग का बहुत शौक है

इनको इनकी बहादुरी के लिए ऑस्ट्रलियन यंग सिटीजन का दिया गया

2007 में nick ने ऑस्ट्रेलिया से दक्षिण कैलिफोर्निया
की सबसे लम्बी यात्रा की जहा वे इन्टरनेशनल नॉन-प्रॉफिट मिनिस्ट्री , लाइफ विथआउट लिम्बस के अध्यक्ष बने




आज 33 वर्षीय nick आज न सिर्फ एक सफल प्रेरक वक्ता है बल्कि वे वह सब करके है जो एक सामान्य व्यक्ति करता है 
वे गोल्फ व फुटबाल खेलते है 

यह अपने आप में एक बहुत बड़ी जित है लेकिन इससे ज्यादा प्रभावित करने वाली बात है , उनकी जीवन के प्रति खुशी और शांति की सम्मोहक भावना 
आज वे दुनिया को जीने का तरीका सिखा रहे है 

आज हम छोटी छोटी बातों से परेशान और हताश हो जाते है वही nick जैसे लोग हर पल यह साबित करते रहते है 
असम्भव कुछ भी नही है , प्रयास करने पर सब कुछ आसान है 

तो कैसी लगी आपको मेरी यह पोस्ट 

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget