Tim Bernes Lee In Hindi

Tim Bernes Lee In Hindi


हैलो दोस्तों आपका स्वागत है मेरे Hindi Room पर


http://onehindiblog.com

आज के समय में ढूंढने पर भी शायद कोई ऐसा इन्सान नही मिलेगा जो इंटरनेट न चलता हो |
जिसे देखो हर कोई स्मार्टफोन उसे करता है और हर दिन इंटरनेट चलता है


इंटरनेट का सुरूर खूब चढ़ा हुआ है

इंटरनेट चलाते समय हमे www लिखना पड़ता है  इसके बिना वेबसाइट खुलती नही है



आधे से ज्यादा लोगो को तो www की फुल फॉर्म भी पता नही होगी
और सिर्फ गिने चुने लोगो को ही पता होगा की www का आविष्कार किसने और कब किया था

कुछ दिन पहले मैने अपने फेसबुक पेज पर फोटो अपलोड की थी और पूछा की ये कोन है तो बहुत ही कम ही बता पाए

वो वही थे जिन्होंने www का आविष्कार किया था और जिनको वेब का पिता कहा जाता है


जी हाँ ! वो Tim Bernes Lee हैं


आज हम उन्ही की जीवनी पढने जा रहे है

तो चलिए शुरू करते हैं

Tim Bernes Lee का जन्म  8 जून 1955 को इंग्लैंड में  हुआ था  इनके माता का नाम Mary Lee Woods और पिता का नाम Conway Berners-Lee है

ये बचपन से अमीर थे इनके माता-पिता दोनों ही गणित के टीचर थे और वो भी इनको टीचर बनाना चाहते थे पर इनको कुछ और ही करना था

इन्होंने अपनी उच्च शिक्षा क्वीन कॉलेज से की और 1976 में ऑक्सफ़ोर्ड विश्वविद्यालय से भौतिक शास्त्र की डिग्री हासिल की थी

कुछ लोग Tim का नाम बदनाम करने के लिए अफ़वाह फैला रखी है कि इन्होंने विश्वविद्यालय में हैकिंग करते हुए पकडे गया था पर उस टाइम तो कोई ऐसा सिस्टम नही था जिसको हैक किया जा सके

पढ़ाई पूरी करने के बाद ये यूरोपियन ऑर्गेनाइजेशन फॉर न्यूक्लियर रिसर्च जिसको सर्न संस्था चलती है वह पर फेलो के रूप में कम किया झा पर उनको एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में इनफार्मेशन ले जानी होती थी

यही पर इनकी लाइफ का टर्निंग पॉइंट शुरू होता है



इन्होंने सोचा क्या ऐसा हो सकता है कि इन सब सूचनाओं को इस तरह पिरोया जाए की ऐसा लगे की ये सब एक ही जगह है

इस पर इन्होंने “इनफार्मेशन मनेग्मेंट – ए प्रपोसल” नाम से रिसर्च पर काम किया और 6 अगस्त 1991 को दुनिया का पहला वेब पेज ब्राउसर बनाया और यही से इंटरनेट की शुरुआत हुई और आज यह सबसे लोकप्रिय साधन है

इसके बाद Tim अमेरिका चले गये और वहां 1994  में Tim ने मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में वर्ल्ड वाइड वेब कंसोर्टियम (W3C) की स्थापना की और दुनिया की पहली वेबसाइट w3c का आविष्कार किया 

 इस काम को देखकर इनको रॉयल सोसायटी का सदस्य बनाया गया
देखते ही देखते इंटरनेट बहुत फेमस हो गया और Tim को बहुत सारे पुरस्कार से नवाजा गया

सन् 2004 में इनको नाईटहुड की उपलब्धि दी गयी
और 13 जून 2007 को इंग्लैंड की महारानी के द्वारा आर्डर ऑफ़ मेरिट इंग्लैंड के सबसे महत्वपूर्ण समान से सम्मानित किया गया

और टाइम पत्रिका ने इनको 20वी शताब्दी टॉप 100 वैज्ञानिकों में चुना है

और सन् 2013 में इनको इंजीनियरिंग के लिए क्वीन एलिज़ाबेथ पुरस्कार मिला
अगर आपको हमारा यह पोस्ट अच लगा हो तो प्लीज इसे शेयर कीजये 
और अगर कुछ पूछना हो तो कमेंट जरुर करें



1 comment: